कैसे देंखे किसान अपनी पंजीयन की स्थिति ? समर्थन मूल्य मे धान बिक्री हेतु कौन से कृषको को पंजीयन मे संशोधन करना है और किसे पंजीयन?

  • धान खरीदी पंजीयन छत्तीसगढ़,
  • धान खरीदी के नवीन पंजीयन हेतु आवेदन,
  • धान खरीद हेतु किसान पंजीकरण,
  • धान खरीद हेतु किसान पंजीकरण last date,
  • धान विक्रय हेतु पंजीकरण CG,
  • किसान पंजीकरण संशोधन,
  • धान खरीदी के नवीन पंजीयन हेतु आवेदन फार्म,

एकीकृत किसान पोर्टल में धान और मक्का उपार्जन को भी शामिल किया गया है। समस्त कृषक को समर्थन मूल्य पर धान और मक्का विक्रय करने के लिए एकीकृत किसान पोर्टल पर पंजीयन कराना अनिवार्य होगा। न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान विक्रय करने वाले कृषकों को धान फसल के लिए एकीकृत किसान पोर्टल में नवीन पंजीयन कराने की आवश्यकता नहीं होगी। किन्तु ऐसे धान उत्पादक कृषक जो खरीफ वर्ष 2021-22 में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान विक्रय करने क लिए पंजीयन नहीं कराए थे, उन कृषकों को नवीन पंजीयन कराना होगा। संस्थागत, रेगहा, बटाईदार, लीज एवं डुबान क्षेत्र के समस्त कृषकों का पंजीयन के लिए पिछले वर्ष के लिए जारी दिशा-निर्देश अनुसार ही खरीफ वर्ष 2022-23 में पंजीयन किया जाएगा।


छत्तीसगढ़ शासन द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य पर धान बिक्री हेतु किसानों को पंजीयन कराना पड़ता है। पंजीकृत किसान ही निर्धारित मात्रा में खरीफ फसल की बिक्री कर सकते हैं। गत वर्ष के पंजीकृत किसान, इस वर्ष के लिए पंजीकृत कृषक माना जाएगा , इसके लिए किसानों का डाटा अद्यतन करने का कार्य 31 अक्टूबर 2022 तक किया जाना है।

 पिछले वर्ष के पंजीकृत किसानों को पंजीयन की आवश्यकता नही-

खरीफ वर्ष 2022-23 में समर्थन मूल्य पर धान एवं मक्का विक्रय हेतु ऐसे किसान जिन्होंने खरीफ वर्ष 2021-22 में न्यूनतम सम्मान समर्थन मूल्य पर धान विक्रय किए हैं ,उन्हें एकीकृत किसान पोर्टल में नवीन पंजीयन करने की आवश्यकता नहीं है। परंतु ऐसे धान उत्पादक किसान जिन्होंने खरीफ वर्ष 2021-22 में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान विक्रय करने हेतु पंजीयन नहीं कराए थे, केवल उन्हीं किसानों को ही नवीन पंजीयन कराना होगा।


किसान पंजीयन हेतु निर्धारित समय सीमा- खरीफ वर्ष 2022-23 में धान और मक्के को समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा ,इसके लिए एकीकृत किसान पोर्टल पर नवीन पंजीयन तथा पंजीकृत किसान जो अपने रकबे में संशोधन करवाना चाहते हैं , उनके लिए 31 अक्टूबर 2022 तक का समय-सीमा दिया गया है । उक्त तिथि के अंदर पंजीयन तथा रकबे में संशोधन की कार्यवाही की जा सकती है।
हालांकि किसान भाइयो को सलाह दिया जाता है की वे पंजीयन/संशोधन आवेदन हेतु अंतिम समय का इंतज़ार न करें क्योकि पिछले वर्ष अंतिम समय मे सर्वर अधिक लोड की समस्या आने के कारण कई तरह की त्रुटियाँ सामने आयी थी !


नया/संशोधन पंजीयन की प्रक्रिया- 

जो भी किसान धान/मक्का पंजीयन कराना चाहते हैं ,उसे निर्धारित आवेदन पत्र के साथ आधार कार्ड की छायाप्रति, कृषि ऋण पुस्तिका, बी-1, पी २, बैंक खाता की छायाप्रति संलग्न करना होगा।
पूर्ण रूप से भरे हुए आवेदन किसानों को ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी/ ग्रामीण उद्यान विकास अधिकारी के पास जमा करना होगा।


पूर्व पंजीकृत कृषको को संसोधन कराना पड़ेगा यदि....

पंजीकृत कृषक का रकबा पिछले वर्ष से बढ़ा हो, या किसी कारणवश पिछले वर्ष किसी रकबे का पंजीयन समस्त पंजिकृत रकबे मे नहीं जुड़ा पाया हो, तो उन कृषको को सशोधन हेतु आवेदन करना होगा !

अब यंहा एक समस्या और आया है ,जिसका कोई संतुष्टी पूर्वक जवाब नहीं मिल पाया:-

उन कृषको का क्या होगा जिनका पिछले पंजीयन मे फसल नुकसान हो जाने ,सुखा, या पडत रह जाने के करण कुछ रकबे मे धान् की बिक्री नहीं कर पाएं???

उन कृषकों को हमारे तरफ से सलाह है की सबसे पहले अपने 2021-22 के पंजीयन की स्थिति चेक करें।
क्या वर्तमान धारित रकबा तथा धान का रकबा सही सही दिखा रहा है?

क्या आपका कोई पंजीकृत रकबा जिसमे आपके द्वारा धान बोया गया रकबा पंजीयन मे जीरो या कम प्रदर्शित हो रहा है?

उस स्थिति मे यदि गिरदावरी उपरांत भी पंजिकृत धान का रकबे मे सुधार नहीं होता है तो तत्काल धान विक्रय हेतु पंजीयन मे संशोधन का फॉर्म भरें क्योकि यदि पूर्व वर्ष की पंजिकृत रकबे को पुनः ज्यो का त्यों अध्यतन किया गया तब जीरो रकबे मे धान का विक्रय नहीं हो पाएगा।


कैसे चेक करें अपनी पूर्व पंजीयन की जानकारी

किसान पंजीयन की स्थिति देखने के लिए आवश्यक है:-किसान कोड /UFID

यदि आप के द्वारा पिछले वर्ष पंजीयन करा चुके हैं तो आपको किसान या  UFID कोड मिला होगा ,उसे नोट कर रख लेना है, यह code आपके द्वारा पिछले वर्षो मे किये धान विक्रय की पावती/टोकन से देख सकते है
यदि आप अपना किसान कोड भूल चुके हैं तो कोई बात नहीं किसान कोड पता करने की सुविधा ,इस पोस्ट के अंत में डायरेक्ट लिंक के माध्यम से उपलब्ध करा रहे , जिससे आप संबंधित उपार्जन केंद्र से अपना किसान कोड पता कर सकते हैं।


किसान पंजीयन 2022-23 में पंजीयन की स्थिति कैसे चेक करें -


स्टेप 1. सबसे पहले निचे दिये लिंक पंजीयन स्थिति 2021-22 को क्लिक करें

स्टेप 2.2021-2022 किसान पंजीयन सम्बन्धी जानकारी देखें पर क्लिक करते ही एक न्यू पेज खुल जायेगा ,इस पेज में आपको अपना किसान कोड दर्ज या फिर UFID दर्ज करना है और जानकारी देखें पर क्लिक करना है।




स्टेप 3. इस प्रकार आपका पूरा डिटेल शो होने लगेगा। आप जिला ,उपार्जन केंद्र , नाम ,रकबा ,धान का रकबा ,आधार नंबर ,मोबाइल नंबर ,खाता क्रमांक ,ifsc कोड ,खाता धारक का नाम देख पाएंगे ,यदि आधार नंबर मोबाइल नंबर तथा खाता क्रमांक चेक कर सकते हैं ,जिससे पंजीकृत भूमि का खसरा नंबर दिखने लगेगा ,जिससे आपको पता हो जाएगा कि आपने कौन कौन से खसरा नंबर की भूमि का धान बिक्री हेतु पंजीयन कराया हैं।



महत्वपूर्ण लिंक 






किसान मित्रों ,उक्त जानकारी के आधार पर आप अपनी पंजीयन की स्थिति देख पाएंगे ,इसके साथ-साथ शासन द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य पर खरीफ फसल 2022.23 के कितनी एकड़ /हेक्टेयर भूमि का धान/मक्का आप बेच सकते हैं ,यह भी देख सकते हैं।

इसके आतिरिक्त अपने सवाल नीचे कमेंट करें।

आल इंडिया में जारी होने वाली सरकारी नौकरी देखे

धान बेचने हेतु पंजीयन कैसे कराएं ?

नवीन पंजीयन आवेदन पत्र के साथ आधार नंबर की छायाप्रति, कृषि ऋण पुस्तिका, बी-1, बैंक पासबुक की छायाप्रति संलग्न कर नवीन पंजीयन कराने वाले किसानों को ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी/ ग्रामीण उद्यान विकास अधिकारी के पास फार्म जमा करना होगा।

नया जमीन को पुराने पंजीयन मे जोड़ने के लिए क्या करें ?

संशोधन आवेदन पत्र के साथ आधार नंबर की छायाप्रति, कृषि ऋण पुस्तिका, बी-1, बैंक पासबुक की छायाप्रति संलग्न कर नवीन पंजीयन कराने वाले किसानों को ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी/ ग्रामीण उद्यान विकास अधिकारी के पास फार्म जमा करना होगा।

पिछले वर्ष मैंने धान विक्रय नहीं किया था , तो क्या पंजीयन करना होगा ?

यदि पूर्व मे आप पंजीकृत कृषक है लेकिन पिछले वर्ष विक्रय नहीं किए थे तो नए पंजीयन की आवश्यकता नहीं है ।

मेरा रकबा पिछले वर्ष कट गया था अब क्या करें ?

संशोधन आवेदन पत्र के साथ आधार नंबर की छायाप्रति, कृषि ऋण पुस्तिका, बी-1, बैंक पासबुक की छायाप्रति संलग्न कर नवीन पंजीयन कराने वाले किसानों को ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी/ ग्रामीण उद्यान विकास अधिकारी के पास फार्म जमा करना होगा।

पंजीयन की स्थिति कैसे देंखे?

उपरोक्त दिये लिंक से किसान कोड UFID द्वारा अपना पंजीयन चेक करें।

मेरे पंजीयन का रकबा ठीक है किन्तु धान का रकबा कम दिखा रहा है ?

गिरदावरी रिपोर्ट खसरा मे देखें , यदि धान के स्थान पर अन्य फसल है ,या पडत हो तो सुधार कराएं ।

उपरोक्त जानकारी मैने अपने अनुभव के आधार पर आप तक साझा किया है;यदि कहीं चुक हो तो अवश्य बताएँ🙏🏻

Post a Comment

0 Comments

Below Post Ad

Ads Area